पर्सनल लोग बिना किसी परेशानी के मिल जाता है। आप एचडीएफसी बैंक के पर्सनल लोन के लिए ऑनलाइन, एटीएम, Loan Assist ऐप्लिकेशन या बैंक में जाकर ऐप्लाई कर सकते हैं। इसकी प्रोसेस के लिए आपके बहुत कम दस्तावेज़ों की ज़रूरत पड़ती है।

प्रॉपर्टी पर लोन

We use cookies on our website to personalize content and to analyze website traffic. The information stored is shared with our analytics partners who may combine the information received by them with any other information, which they have collected from your use of the website and its services. By continuing to browse our website, you are agreeing to the use of cookies.

If you choose not to agree to the use of cookies, all features of the website may not operate as intended and you may not be able to access all or parts of our website. A cookie is a small text file that is stored on a user(s) computer for record-keeping purposes. Cookies are helpful because they allow a website to remember the user(s) device and its preferences. ICICI Home Finance Company Ltd. (“ICICI HFC”) is strongly committed to protecting the privacy of its customers. We use a third-party analytics tool to recognize cookies at your computer, mobile, and/or your browsing device. These cookies let you view customized pages while using our website. ICICI HFC does not have confidential or personally identifiable information. Since we use session ID cookies, we do not track a user once they leave our website. A session ID cookie expires when a user closes the browser. Cookies do lots of different jobs like allowing users to navigate between pages efficiently, remembering their preferences, and generally improving their browsing experience. All information collected by third party cookies is aggregated and therefore anonymous. By using our website, it is implied that the user agrees that cookies can be placed on his or her device. User(s) are free to disable/delete cookies by changing their web browser settings. ICICI HFC is not responsible for cookies placed in a user(s) device by any other website and information collected thereto. By using the website, the Customer authorizes ICICI HFC to exchange, share, part with all information related to the details and transaction history of the Customers to its affiliates/banks / financial institutions/credit bureaus/agencies/participation in any telecommunication or electronic clearing network as may be required by law, customary practice, credit reporting, statistical analysis and credit scoring, verification or risk management and shall not hold ICICI HFC liable for use or disclosure of this information.

स्थिर आय प्राप्त करने में कितना समय लगता है?

रिटायरमेंट पेंशन प्लान्स

सेवानिवृत्ति बीमा योजनाओं के साथ स्टाइल में अपनी सेवानिवृत्ति का आनंद लें

रिटायरमेंट पेंशन प्लान्स

सेवानिवृत्ति बीमा योजनाओं के साथ स्टाइल में अपनी सेवानिवृत्ति का आनंद लें

Take a स्थिर आय प्राप्त करने में कितना समय लगता है? step ahead to secure your life

SHARE THIS PAGE

By submitting my details, I override my NDNC registration and authorize Edelweiss Tokio Life Insurance Company Limited and its representatives to contact me through call, WhatsApp or E-mail for providing assistance with the proposal. I further consent to share my information with third parties for evaluating and processing this proposal.

Take a step ahead to secure your life

By submitting my details, I override my NDNC registration and authorize Edelweiss Tokio Life Insurance Company Limited and its representatives to contact me through call, WhatsApp or E-mail for providing assistance with the proposal. I further consent to share my information with third parties for evaluating and processing this proposal.

Thank You For Your Rating.

We will soon verify the details and add your rating appropriately.


सेवानिवृत्ति पेंशन योजनाएं आपको वर्षों में अपनी कमाई को निवेश करने में मदद करती हैं और एक ऐसा फंड बनाती हैं जिसे आप अपने सेवानिवृत्ति के वर्षों के दौरान पूर्ण रूप से या इसे भागों में निकाल सकते हैं। इसके अलावा, ये योजनाएं आपके जीवन के सुनहरे वर्षों निवेश के साथ सुरक्षा के दोहरे लाभों के साथ आपकी वित्तीय जरूरतों को पूरा करने के लिए आदर्श हैं। जीवन यापन की उच्च लागत और बढ़ती मुद्रास्फीति को देखते हुए, सेवानिवृत्ति योजना अधिक आवश्यक हो गई है।

सेवानिवृत्ति पेंशन योजनाएं आपको वर्षों में अपनी कमाई को निवेश करने में मदद करती हैं और एक ऐसा फंड बनाती हैं जिसे आप अपने सेवानिवृत्ति के वर्षों के दौरान पूर्ण रूप से या इसे भागों में निकाल सकते हैं। इसके अलावा, ये योजनाएं आपके जीवन के सुनहरे वर्षों निवेश के साथ सुरक्षा के दोहरे लाभों के साथ आपकी वित्तीय जरूरतों को पूरा करने के लिए आदर्श हैं। जीवन यापन की उच्च लागत और बढ़ती मुद्रास्फीति को देखते हुए, सेवानिवृत्ति योजना अधिक आवश्यक हो गई है।

रिटायरमेंट प्लान के लाभ

    युवा अवस्था की ज़िम्मेदारियाँ : युवा अवस्था में नौकरी पेशा व्यक्ति, उन दिनों की जिम्मेदारियों जैसे कि घर का किराया, बच्चों की पढाई का खर्चा आदि को निभाते निभाते अपने बुढ़ापे की आर्थिक ज़रूरतों को नज़रअंदाज़ कर देता हैं और फिर एक ऐसा समय आता हैं जब उसे पैसो की ज़रूरतों को पूरा करने के अपने बच्चों या फिर रिश्तेदारों पर निर्भर होना पड़ता हैं | इसलिए यह बहुत जरूरी हो जाता हैं कि आप युवा अवस्था से ही अपनी रिटायरमेंट को बेहतर बनाने का प्रयास करे और यह आप एक सही रिटायरमेंट पॉलिसी ले के कर सकते है |

सेवानिवृत्ति योजनाएँ या पेंशन योजनाएँ क्या हैं?

सेवानिवृत्ति योजना या पेंशन योजना एक विशिष्ट प्रकार की बीमा पॉलिसी हैं जो आपको एक आरामदायक सेवानिवृत्त जीवन जीने में मदद करती हैं। ये योजनाएं आपको सुरक्षा प्रदान करती हैं और निवेश नीतियों के रूप में भी कार्य करती हैं जो सेवानिवृत्ति के बाद की आपकी जरूरतों जैसे चिकित्सा खर्च, रहने की लागत आदि को पूरा करने के लिए एक कोष जमा करने में मदद करती हैं।

ये योजनाएं आपकी कमाई को वर्षों में निवेश करती हैं और एक फंड बनाती हैं, जिसका उपयोग आप एक बार में या सेवानिवृत्ति के दौरान भागों में करते हैं। पर्याप्त निवेश और उचित योजना के साथ, आप आसानी से अपने सुनहरे वर्षों की योजना बना सकते हैं और सेवानिवृत्ति के बाद भी आय के एक स्थिर प्रवाह के साथ अपने भविष्य को सुरक्षित कर सकते हैं।

आपको एक सेवानिवृति योजना की आवश्यकता क्यों है?

हम अपनी दिन-प्रतिदिन की जरूरतों को पूरा करने के लिए अपनी मेहनत की कमाई का निवेश इतना अधिक करते हैं कि हम अपने बाद के वर्षों में अपने लिए एक आरामदायक और समृद्ध जीवन हासिल करने पर बहुत कम ध्यान देते हैं।

हममें से अधिकांश लोगों के नौकरी और यहां तक कि अच्छे लाइफ स्टाइल की मांग करते हैं| हमारे तनावपूर्ण जीवन की दैनिक भागदौड़ में, क्या हम अपने सेवानिवृत्ति के बाद के जीवन के बारे में भी सोचते हैं? लेकिन इस सबके जिम्मेदार हम सब स्वयं हैं गहरी सांस गहरी सांस लें और अपने भविष्य के बारे में सोचें| यदि हम अपनी सेवानिवृति के बाद के जीवन का आनंद नहीं ले पा रहे हैं तो इतनी मेहनत करने का क्या मतलब है? लाइफस्टाइल के अलावा, हमारे पास अपने परिवारों के प्रति जिम्मेदारियां हैं जो सेवानिवृत्ति के साथ दूर नहीं हो सकती हैं।

यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपकी सेवानिवृत्ति के बाद का जीवन सुचारू और शांतिपूर्ण रहे और आपके परिवार की देखभाल भी अच्छी तरह से होती रहे, अब आपके लिए सेवानिवृत्ति की योजना बनाना बहुत महत्वपूर्ण है। अपनी वर्तमान आयु, आय, लाइफ स्टाइल जीवन शैली और जीवन लक्ष्यों के आधार पर, आप एक निवेश राशि चुन सकते हैं और अपनी सेवानिवृत्ति के लिए योजना बना सकते हैं।

क्या आप रिटायरमेंट के बाद की आय में विश्वास रखते हैं?

प्रोफेशनल लाइफ से सेवानिवृत्ति का मतलब यह नहीं होना चाहिए कि आप नियमित आय प्राप्त करना बंद कर दें। सेवानिवृत्ति योजनाएं आपको अपनी बचत का एक हिस्सा आवंटित करने और उन्हें समय के साथ बढ़ने देती हैं। फिर आप सेवानिवृत्त होने के बाद नियमित भुगतान प्राप्त करने स्थिर आय प्राप्त करने में कितना समय लगता है? का विकल्प चुन सकते हैं।

स्थिर आय प्राप्त करने में कितना समय लगता है?

उत्तर : जी नहीं, नियोक्ता एवं वेतन के बगैर कोई वसूली नहीं की जा सकती। सदस्य द्वारा किया गया कोई भी अंशदान नियोक्ता के अंशदान के समतुल्य होना चाहिए।

7 - कर्मचारी के वेतन से काटे गए अंशदान को तथा क.भ.नि. को भुगतान नहीं किए जाने के संबंध में गैर भुगतान से सदस्य को किस प्रकार सूचित किया जाता है?

उत्तर : वार्षिक भ.नि. खाता विवरणी / सदस्य पासबुक, नियोक्ता द्वारा भुगतान की गई राशि का विवरण देता है। इस प्रकार, सदस्यों को वर्ष में चूक की अवधि का पता चलता है। वर्तमान परिदृश्य में, यदि सदस्य ने अपने यूएएन को सक्रिय किया है तो अंशदान का गैर-भुगतान / भुगतान, ई-पासबुक के माध्यम से हर महीने सत्यापित किया जा सकता है। वर्तमान में, सदस्य अपने भ.नि. खाते में मासिक अंशदान के जमा होने पर अपने पंजीकृत मोबाइल पर एसएमएस भी प्राप्त करते हैं।

8 - भविष्य निधि राशि यदि 20 दिन के भीतर प्राप्त नहीं होती है तो मामले को किसके समक्ष प्रस्तुत किया जाना चाहिए।

उत्तर : वह क्षेत्रीय भविष्य निधि आयुक्त, प्रभारी शिकायत से संपर्क कर सकता है, फॉर एंप्लाइज’ सेक्शन में ईपीएफआईजीएमएस सुविधा का लाभ उठाते हुए वेबसाइट पर शिकायत दर्ज कर सकता है। शिकायत पृष्ठ के लिए यूआरएल है : https://epfigms.gov.in/ अथवा प्रत्येक माह की 10 तारीख को आयोजित ‘निधि आप के निकट’ में वह आयुक्त के समक्ष उपस्थित हो सकता है।

9 - क्या भविष्य निधि देय राशि की निकासी की कोई समय-सीमा है?

उत्तर : केवल सेवा से त्यागपत्र (सेवानिवृत्ति नहीं) के मामले में सदस्य को भविष्य निधि की राशि की निकासी के लिए दो माह की अवधि तक प्रतीक्षा करनी होती है।

10 - जब नियोक्ता दावा प्रपत्र को सत्यापित न कर रहा हो तो भविष्य निधि की निकासी के लिए आवेदन कैसे प्रस्तुत किया जा सकता

उत्तर : आवेदन फार्म को सत्यापित करना नियोक्ता का कर्तव्य है। किसी प्रकार के विवाद के मामले में सदस्य उस बैंक जिसमें उसका खाता है, नियोक्ता से सत्यापन न कराने के कारण बताते हुए, इसे क्षेत्रीय भविष्य निधि आयुक्त को प्रस्तुत कर सकता है। क्षेत्रीय भविष्य निधि आयुक्त आवश्यकतानुसार नियोक्ता के साथ मामला उठाएगा। यदि सदस्य ने अपना यूनिवर्सल खाता संख्या सक्रिय किया है और अपने बैंक खाते और आधार को लिंक किया है तो वह कंपोजिट फॉर्म (आधार) प्रस्तुत कर सकता है जिसमें केवल सदस्य के हस्ताक्षर आवश्यक होते हैं।

11 - क्या नौकरी बदलने पर सदस्य अपने भविष्य निधि को अंतरित करा सकता है ?

उत्तर : नौकरी बदलने पर, सदस्य को फार्म 13 (आर) प्रस्तुत कर निश्चित रूप से अपनी वर्तमान स्थापना में अपना भविष्य निधि खाता अंतरित करना चाहिए। एकीकृत पोर्टल पर सदस्य इंटरफेस को प्रयोग में लाते हुए सदस्य अंतरण का दावा प्रस्तुत कर सकता है।

12 - भ.नि. अंशदाताओं के लिए ब्याज क्रेडिट की विधि क्या है?

उत्तर : प्रत्येक वर्ष के लिए घोषित वैधानिक दर पर मासिक चालू शेष के आधार पर चक्रवृद्धि ब्याज जमा कर दिया जाता है। वर्ष 2016-17 के लिए घोषित ब्याज 8.65% है।

पर्सनल लोन के बारे में ज़रूरी जानकारी

पर्सनल लोन लेने के लिए किसी तरह की गिरवी या सुरक्षा के तौर पर पूंजी जमा करने की ज़रूरत नहीं होती है और यह बहुत ही कम दस्तावेज़ जमा करके मिल जाता है। हालांकि, दूसरी तरह के लोन की तरह इसे मासिक इंस्टॉलमेंट में चुकाना होता है।

आप पर्सनल लोन का इस्तेमाल शिक्षा, शादी, घूमने, घर बनवाने, मेडिकल खर्च या कोई गैजेट खरीदने के लिए कर सकते हैं। पैसे की कमी होने पर आप इसका इस्तेमाल अपने रोज़ाना खर्चों के लिए भी कर सकते हैं।

एचडीएफसी बैंक अपने मौजूदा ग्राहकों को सिर्फ 10 सेकंड में ही पर्सनल लोन दे देता है। बाहरी लोगों को 4 घंटे से भी कम समय में पर्सनल लोन दे दिया जाता है। एचडीएफसी के मौजूदा ग्राहक के तौर पर, आप एचडीएफसी बैंक की वेबसाइट पर नेटबैंकिंग से, एटीएम या Loan Assist ऐप्लिकेशन से पर्सनल लोन के लिए ऐप्लाई कर सकते हैं। इसके अलावा, आप एचडीएफसी की नज़दीकी ब्रांच में जाकर भी इसकी प्रोसेस शुरू कर सकते हैं।

पर्सनल लोन चुकाने के लिए, आप अपनी ज़रूरत के हिसाब से री-पेमेंट अवधि चुन सकते हैं। इसके बाद, आपको बराबर मासिक किश्तों या ईएमआई देनी होगी। किश्त की राशि की गणना आपका लोन, पेमेंट अवधि, और ब्याज की दर के हिसाब से की जाती है।

पर्सनल लोन के फ़ायदे:

    पर्सनल लोग बिना किसी परेशानी के मिल जाता है। आप एचडीएफसी बैंक के पर्सनल लोन के लिए ऑनलाइन, एटीएम, Loan Assist ऐप्लिकेशन या बैंक में जाकर ऐप्लाई कर सकते हैं। इसकी प्रोसेस के लिए आपके बहुत कम दस्तावेज़ों की ज़रूरत पड़ती है।

पर्सनल लोन का इस्तेमाल किसलिए किया जा सकता है?

पर्सनल लोन की राशि का इस्तेमााल कई तरह की ज़रूरतों को पूरा करने के लिए किया जा सकता है:

  • इससे आप उच्च शिक्षा की फ़ीस चुका सकते हैं। इस पर लगने वाली ब्याज की राशि पर आपको टैक्स में छूट भी मिलेगी
  • शादियों में बहुत ज़्यादा पैसे खर्च होते हैं। आप पर्सनल लोन से शादी का खर्च भी उठा सकते हैं।
  • आप इसका इस्तेमाल नया लैपटॉप या फ़ोन खरीदने में भी कर सकते हैं।
  • क्या आप घर खरीदना चाहते हैं? या अपना आशियाने को फिर से संवारना चाहते हैं? पर्सनल लोन पर टैक्स में छूट के साथ आप ये काम भी पूरा कर सकते हैं।
  • आपको अपनी पसंदीदा ट्रिप पर जाने के लिए बचाए गए पैसों को खर्च करने की ज़रूरत नहीं है। पर्सनल लोन लेकर आप अपनी ट्रिप को भी यादगार बना सकते हैं।
  • रोज़ाना के कामों के लिए पैसों की कमी को पूरा करने के लिए भी पर्सनल लोन का बखूबी इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • जो कुछ भी आप चाहें, पर्सनल लोन की राशि का इस्तेमाल कर सकते हैं।

सबसे अच्छे पर्सनल लोन को कैसे चुना जा सकता है?

अपनी ज़रूरत के हिसाब से सबसे अच्छा पर्सनल लोन चुनने के लिए कई बातों को ध्यान में रखना चाहिए। समय, ज़रूरत और भुगतान की क्षमता के हिसाब से लोन चुनना चाहिए।

    पर्सनल लोन को अनुमति मिलने में जो समय लगता है उसे भुगतान का समय कहा जाता है। पर्सनल लोन, किसी मेडिकल इमरजेंसी या किसी तरह की तुरंत की ज़रूरत को पूरा करने में मददगार होते हैं। एचडीएफसी बैंक अपने मौजूदा ग्राहकों को सिर्फड 10 सेकंड में ही पर्सनल लोन दे देता है। बाहरी लोगों को पर्सनल लोन देने में 4 घंटे से भी कम समय लगता है।

पर्सनल लोन लेने के लिए पात्रता की जांच कैसे की जाती है

पर्सनल लोन के लिए आवेदन करने के पहले, आपको पक्का कर लेना होगा कि आप लोन के लिए पात्र हैं या नहीं। आप पर्सनल लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं, अगर:

    आप सैलरी पाने वाले डॉक्टर हैं या सीए हैं या किसी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के कर्मचारी है या फिर किसी पब्लिक सेक्टर (केंद्र सरकार, राज्य सरकार या स्थानीय) के कर्मचारी हैं।

ईएमआई क्या होता है? इसे कम कैसे किया जा सकता है?

ईएमआई या समान मासिक किश्त, किसी लोन का महत्वपूर्ण हिस्सा होती है। यह एक निश्चित अंतराल में दी जाने वाली किस्त होती है जो आप लोन को चुकाने के लिए वापस करते हैं।

ईएमआई को कैलकुलेट करना और उसे कम से कम रखना बेहद ज़रूरी होता है। ईएमआई को नीचे दिए गए तीन फ़ैक्टर्स से तय किया जाता है:

ईएमआई को एचडीएफसी बैंक का पर्सनल लोन ईएमआई लोन कैलकुलेटर जैसे ऑनलाइन कैलकुलेटर का इस्तेमाल करके आसानी से कैलकुलेट किया जा सकता है। जब तक आपको अपने हिसाब से सबसे सही ईएमआई नहीं मिल जाती, तक तक आप लोन की राशि और समयावधि को घटा-बढ़ा सकते हैं। अगर आपने लोन की राशि पहले ही तय कर ली है, तो समयावधि को घटाते-बढ़ाते रहें। पसंदीदा ईएमआई मिलने पर, 'अभी ऐप्लाई करें' पर क्लिक करें। लोन के शुरुआती समय में ईएमआई पर ब्याज दर ज़्यादा और मूलधन कम रहता है, लेकिन बाद में जाकर ये बदल जाता है।

एचडीएफसी बैंक लोगों को 12 से 60 महीनों के अदायगी के समय में 40 लाख रुपये तक का लोन देता है और इसकी ईएमआई मात्र 2149 रुपये प्रति लाख है।

मैं पर्सनल लोन के लिए आवेदन कैसे कर सकता/सकती हूं?

पर्सनल लोन के लिए आवेदन करना बहुत ही आसान है। ये सिर्फ़ 5 चरणों में ही हो जाता है:

    तय करें कि आपको लोन क्यों चाहिए और कितनी राशि का चाहिए। आप शादी से लेकर छुट्टियों की ट्रिप के लिए भी पर्सनल लोन ले सकते हैं। इसके लिए 1 लाख रुपये से लेकर 10 लाख रुपये का लोन आप ले सकते हैं।

इसके बाद, आप लोन की राशि का अपने खाते में पहुंचने का इंतज़ार करें। एचडीएफसी बैंक अपने मौजूदा ग्राहकों को सिर्फ़ 10 सेकंड में ही पर्सनल लोन की राशि दे देता है जबिक बाहरी लोगों के लिए इस प्रोसेस को 4 घंटे से भी कम समय में पूरा कर दिया जाता है।

पर्सनल लोन के अलावा कोई और विकल्प भी होता है क्या?

अगर आप पर्सनल लोन नहीं लेना चाहते हैं, तो एचडीएफसी बैंक से दूसरे तरीकों से भी अपनी ज़रूरतों को पूरा करने के लिए रुपये ले सकते हैं। आप नीचे दिए गए तरीकों में से किसी का इस्तेमाल करके लोन ले सकते हैं:

    क्रेडिट कार्ड: आप अपने खाते और ज़रूरत के हिसाब से, एचडीएफसी बैंक के खाते में लोन ले सकते हैं। उदाहरण के लिए, इंस्टा लोन से आप अपने एचडीएफसी खाते में लोन की राशि पा सकते हैं, जबकि इंस्टा जम्बो लोन से आप अपने क्रेडिट कार्ड की सीमा से ज़्यादा खर्च करने के लिए भी लोन ले सकते हैं।

तो फिर किस बात का है इंतज़ार? अपनी पसंद का पर्सनल लोन लें और जीयो शान से!
​​​​​​​

*नियम और शर्तें लागू। लोन के अप्रूवल पूरी तरह से एचडीएफसी बैंक लिमिटेड के अधीन है।

समय से पहले बैंक एफडी से पैसा निकालने पर कैसे होता है ब्याज का कैलकुलेशन?

एफडी को समय से पहले तुड़वाने की जरूरत इमर्जेंसी में पड़ती है. कोविड-19 की महामारी के चलते बड़ी संख्‍या में लोगों की इनकम पर असर पड़ा है. ऐसे में आज जैसे हालातों में एफडी का यह फीचर उपयोगी साबित हो सकता है.

photo4

लोग दो कारणों से आज भी फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट में निवेश करते हैं. इनमें पहला है कम जोखिम और दूसरा है सुनिश्चित रिटर्न.

अगर आप एफडी को समय से पहले तुड़वाने के बारे में सोच रहे हैं तो आपको दो चीजों पर जरूर ध्‍यान देना चाहिए.

1. रिफंड की जाने वाली रकम तक पहुंचने के लिए बैंक एफडी पर ब्‍याज कैसे कैलकुलेट करते हैं.
2. मैच्‍योरिटी से पहले एफडी तुड़वाने पर पेनाल्‍टी कैसे वसूली जाती है.

एफडी पर ब्‍याज का कैलकुलेशन कैसे होता है?
पैसा बाजार डॉट कॉम के सीईओ और सह-संस्‍थापक नवीन कुकरेजा कहते हैं कि अगर समय से पहले एफडी को तुड़वा रहे स्थिर आय प्राप्त करने में कितना समय लगता है? हैं तो प्रभावी ब्‍याज दर वह नहीं होगी जिस पर उसे खोला गया था. बैंकिंग की भाषा में इसे बुक्‍ड रेट कहा जाता है. यह वह दर होती है जिस पर एफडी अकाउंट खोला जाता है. इसके बजाय पैसा जितने समय तक बैंक में रहा है, उसके हिसाब से कार्ड रेट पर ब्‍याज मिलेगा.

इसे एक उदाहरण से समझते हैं. मान लेते हैं कि आप किसी बैंक में एक साल की एफडी कराते हैं. इस पर ब्याज की दर 7 फीसदी है. लेकिन, आप छह महीने के बाद आर्थिक जरूरतों को पूरा करने के लिए इसे तुड़वा देते हैं. ऐसे में आपको छह महीने की अवधि के लिहाज से ही ब्याज मिलेगा. अगर उस बैंक में छह महीने पर 6.25 फीसदी ब्‍याज है तो आपको 6.25 फीसदी के हिसाब से भुगतान होगा.

एफडी को समय से पहले तुड़वाने पर पेमेंट

मूल रकम 1 लाख रुपये
एक साल की एफडी पर बुक्‍ड इंटरेस्‍ट रेट 7 फीसदी
एक साल के बाद मैच्‍योरिटी की रकम 1,07,186 रुपये
छह महीने की एफडी पर इंटरेस्‍ट रेट (कार्ड रेट) 6.25 फीसदी
एफडी को समय से पहले निकालने पर देय रकम 1,03,340 रुपये

अगर कार्ड रेट से बुक्‍ड रेट कम हैं तो क्‍या होगा?
उस स्थिति में एफडी को समय पहले निकालने पर बुक्‍ड रेट का इस्‍तेमाल स्थिर आय प्राप्त करने में कितना समय लगता है? कर रिफंड की रकम निकाली जाएगी. मान लेते हैं कि आप एक साल की एफडी कराते हैं जिस पर ब्‍याज की दर 6.25 फीसदी है. लेकिन, इसे 91 दिन बाद तुड़वाने का फैसला करते हैं. एफडी को खोलते वक्‍त इंटरेस्‍ट रेट कार्ड के हिसाब से 91 दिनों की एफडी पर ब्‍याज दर 6.50 फीसदी थी. इस मामले में बैंक 6.25 फीसदी से ही ब्‍याज कैलकुलेट करेगा.

कितना लगता है जुर्माना?
समय से पहले एफडी से पैसा निकालने पर बैंक जुर्माना या पेनाल्‍टी वसूलते हैं. अलग-अलग बैंकों में ये रेट अलग-अलग होते हैं. ये जुर्माना आपकी ब्याज दर में से ही काटा जाता है. कुछ मामलों में यह एक फीसदी तक हो सकता है.

एसबीआई की वेबसाइट के अनुसार, एफडी को समय से पहले तुड़वाने पर ये चार्ज लगते हैं :

-5 लाख रुपये तक के रिटेल टर्म डिपॉजिट पर प्रीमैच्‍योर विदड्रॉल पर 0.50 फीसदी पेनाल्‍टी है.
-5 लाख रुपये से ज्‍यादा लेकिन 1 करोड़ रुपये से कम पर 1 फीसदी पेनाल्‍टी लागू है.

पेनाल्‍टी के साथ एफडी को समय से पहले तुड़वाने पर पेमेंट

मूल रकम1 स्थिर आय प्राप्त करने में कितना समय लगता है? लाख रुपये
एक साल की एफडी पर बुक्ड इंटरेस्‍ट रेट 7 फीसदी
एक साल के बाद मैच्‍योरिटी की रकम 1,07,186 रुपये
6 महीने की एफडी पर ब्‍याज दर6.25 फीसदी
प्रीमैच्‍योर विदड्रॉल के चलते पेनाल्‍टी चार्ज0.50 फीसदी
देय प्रभावी ब्‍याज दर 5.75
प्रीमैच्‍योर विदड्रॉल के कारण मिली रकम1,03,213 रुपये

आपको क्‍या करना चाहिए?
पेनाल्‍टी के चलते प्रभावी ब्‍याज दर घट जाने से एफडी को समय से पहले तुड़वाना महंगा पड़ता है. इसलिए एफडी में पैसा लगाने से पहले प्रीमैच्‍योर विदड्रॉल पर बैंक की शर्तें जरूर देख लें. एफडी तुड़वानी है या नहीं, इस पर फैसला लेने से पहले थोड़ा गणित जरूर लगा लें. कैलकुलेट कर लें कि पेनाल्‍टी (अगर है) के कारण आपको कितना नुकसान होगा.

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

रेटिंग: 4.90
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 585