HDFC Bank का पैरेंट कंपनी HDFC के साथ विलय का रास्ता साफ होता दिख रहा है. (File)

HDFC Ltd का शेयर टॉप 10 मार्केट कैप वाली कंपनियों की लिस्ट से बाहर, भारी बिकवाली से लगा झटका

4 अप्रैल को मर्जर के ऐलान के बाद एचडीएफसी के स्टॉक में लगभग 19 फीसदी गिरावट के साथ उसकी मार्केट कैपिटलाइजेशन 90,000 करोड़ रुपये से ज्यादा कम हो चुकी है। इसी तरह एचडीएफसी बैंक के शेयरों को भी झटका लगा है और इनवेस्टर्स इस शेयर में 1.66 लाख करोड़ रुपये का नुकसान उठा चुके हैं

एचडीएफसी लि. ने ऐलान किया था कि वह एचडीएफसी बैंक के साथ अपने परिचालन का विलय कर देगी। शेयर एक्सचेंज रेश्यो के तहत एचडीएफसी लि. के 25 शेयरों के बदले में एचडीएफसी बैंक के 42 इक्विटी शेयर मिलेंगे

HDFC Ltd Share : भारत की सबसे बड़ी हाउसिंग फाइनेंस कंपनी एचडीएफसी लि. 19 अप्रैल को मार्केट कैपिटलाइजेशन के लिहाज से 10 सबसे ज्यादा वैल्यू वाली कंपनियों की लिस्ट से बाहर हो गई। पिछले दो हफ्ते के दौरान इसके शेयर में लगभग 19 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। वहीं एचडीएफसी बैंक (एचडीएफसी विलय सौदे से बाजार में तेजी एचडीएफसी विलय सौदे से बाजार में तेजी HDFC Bank) के शेयर में भी पिछले दो हफ्तों में लगभग इतनी ही गिरावट दर्ज की गई है। इस प्रकार एचडीएफसी ग्रुप के दोनों शेयर नौ ट्रेडिंग सेशंस में निवेशकों की लगभग 2.60 लाख करोड़ रुपये डुबो चुके हैं।

एचडीएफसी लि. टॉप 10 लिस्ट से बाहर

एचडीएफसी अब टॉप 10 लिस्ट से बाहर 11वें पायदान पर है। टॉप 10 कंपनियों में रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries Ltd), टाटा कंसल्टैंसी सर्विसेज (Tata Consultancy Services), एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank), इंफोसिस (Infosys), आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank), हिंदुस्तान यूनिलीवर (Hindustan Unilever), अडानी ग्रीन्स एनर्जी (Adani Green Energy), स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (State Bank of India), भारती एयरटेल (Bharti Airtel) और बजाज फाइनेंस (Bajaj Finance) शामिल हैं।

बड़ी खबर: एचडीएफसी का एचडीएफसी बैंक में होगा विलय, 41 फीसदी हिस्सेदारी का किया जाएगा अधिग्रहण

HDFC All Set To Merge With HDFC Bank: एचडीएफसी की ओर से चार अप्रैल को कहा गया कि उसके बोर्ड ने एचडीएफसी बैंक लिमिटेड के साथ अपनी पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक एचडीएफसी इन्वेस्टमेंट लिमिटेड और एचडीएफसी होल्डिंग्स लिमिटेड के विलय को मंजूरी दे दी है।

एचडीएफसी-एचडीएफसी बैंक विलय होगा।

हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्पोरेशन (एचडीएफसी) का एचडीएफसी बैंक में विलय होने जा रहा है और इसकी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। सोमवार को इसकी आधकारिक घोषणा की गई। अध्यक्ष दीपक पारेख ने कहा कि इस परिवर्तनकारी विलय के बाद एचडीएफसी की बैंक में 41 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी।

2024 तक पूरी हो जाएगी प्रक्रिया
एचडीएफसी की ओर से चार अप्रैल को कहा गया कि उसके बोर्ड ने एचडीएफसी बैंक लिमिटेड के साथ अपनी पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक एचडीएफसी इन्वेस्टमेंट लिमिटेड और एचडीएफसी होल्डिंग्स लिमिटेड के विलय को मंजूरी दे दी है। रिपोर्ट के मुताबिक, एचडीएफसी-एचडीएफसी बैंक की विलय प्रक्रिया वित्त वर्ष 2024 की दूसरी या फिर तीसरी तिमाही तक पूरा होने की उम्मीद है।

बैंक के पास इतना ग्राहक आधार
दीपक पारेख ने कहा कि यह विलय एचडीएफसी बैंक को अपना आवास ऋण पोर्टफोलियो बनाने और अपने मौजूदा ग्राहक आधार को बढ़ाने में सक्षम करेगा। पारेख ने कहा कि यह बराबरी का विलय है। हमारा मानना है कि रेरा के लागू होने, हाउसिंग सेक्टर को इंफ्रास्ट्रक्चर की स्थिति, सबके लिए किफायती आवास जैसी सरकारी पहलों के कारण हाउसिंग फाइनेंस व्यापार तेजी से बढ़ने की ओर अग्रसर है। बता दें कि एचडीएफसी बैंक के पास 6.8 करोड़ का बड़ा ग्राहक आधार है।

टीसीएस से ज्यादा होगा मार्केट कैप
विलय के बाद बनने वाली कंपनी का मार्केट कैप टाटा कंसल्टैंसी सर्विसेज (टीसीएस) से अधिक होगा। गौरतलब है कि फिलहाल, मुकेश अंबानी की रिलांयस इंडस्ट्रीज पहले और टीसीएस दूसरे नंबर पर है। विलय के बाद एचडीएफसी बैंक में शत प्रतिशत हिस्सेदारी पब्लिक शेयरहोल्डर्स की होगी। विलय के बाद यह मार्केट कैप के हिसाब से टीसीएस को पछाड़ दूसरी सबसे बड़ी कंपनी होगी।

ऐसे होगा शेयरों का आदान-प्रदान
प्रस्तावित सौदे के तहत एचडीएफसी लिमिटेड के प्रत्येक 25 इक्विटी शेयरों के लिए एचडीएफसी बैंक के 42 इक्विटी शेयर मिलेंगे। एचडीएफसी बैंक ने सोमवार को शेयर बाजार को बताया कि विलय की योजना भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) और भारतीय प्रतिभूति तथा विनिमय बोर्ड (सेबी) सहित विभिन्न नियामक मंजूरियों के अधीन है। फिलहाल एचडीएफसी की कुल एसेट 6.23 लाख करोड़ रुपये है, जबकि एचडीएफसी बैंक की एसेट्स 19.38 लाख करोड़ रुपये की है।

शेयरों में आया जोरदार उछाल
एचडीएफसी लिमिटेड की सहायक कंपनियां और सहयोगी एचडीएफसी बैंक में स्थानांतरित हो जाएंगे। एचडीएफसी के वाइस चेयरमैन और मुख्य कार्यकारी अधिकारी केकी मिस्त्री ने कहा है कि इस विलय से ग्राहक को बड़ा लाभ होगा। वहीं दूसरी ओर विलय की खबर के साथ एचडीएफसी और एचडीएफसी बैंक के शेयरों में 10-10 फीसदी का जोरदार उछाल आया है।

विस्तार

हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्पोरेशन (एचडीएफसी) का एचडीएफसी बैंक में विलय होने जा रहा है और इसकी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। सोमवार को इसकी आधकारिक घोषणा की गई। अध्यक्ष दीपक पारेख ने कहा कि इस परिवर्तनकारी विलय के बाद एचडीएफसी की बैंक में 41 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी।

2024 तक पूरी हो जाएगी प्रक्रिया
एचडीएफसी की ओर से चार अप्रैल को कहा गया कि उसके बोर्ड ने एचडीएफसी बैंक लिमिटेड के साथ अपनी पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक एचडीएफसी इन्वेस्टमेंट लिमिटेड और एचडीएफसी होल्डिंग्स लिमिटेड के विलय को मंजूरी दे दी है। रिपोर्ट के मुताबिक, एचडीएफसी-एचडीएफसी बैंक की विलय प्रक्रिया वित्त वर्ष 2024 की दूसरी या फिर तीसरी तिमाही तक पूरा होने की उम्मीद है।

बैंक के पास इतना ग्राहक आधार
दीपक पारेख ने कहा कि यह विलय एचडीएफसी बैंक को अपना आवास ऋण पोर्टफोलियो बनाने और अपने मौजूदा ग्राहक आधार को बढ़ाने में सक्षम करेगा। पारेख ने कहा कि यह बराबरी का विलय है। हमारा मानना है कि रेरा के लागू होने, हाउसिंग सेक्टर को इंफ्रास्ट्रक्चर की स्थिति, सबके लिए किफायती आवास जैसी सरकारी पहलों के कारण हाउसिंग फाइनेंस व्यापार तेजी से बढ़ने की ओर अग्रसर है। बता दें कि एचडीएफसी बैंक के पास 6.8 करोड़ का बड़ा ग्राहक आधार है।

टीसीएस से ज्यादा होगा मार्केट कैप
विलय के बाद बनने वाली कंपनी का मार्केट कैप टाटा कंसल्टैंसी सर्विसेज (टीसीएस) से अधिक होगा। गौरतलब है कि फिलहाल, मुकेश अंबानी की रिलांयस इंडस्ट्रीज पहले और टीसीएस दूसरे नंबर पर है। विलय के बाद एचडीएफसी बैंक में शत प्रतिशत हिस्सेदारी पब्लिक शेयरहोल्डर्स की होगी। विलय के बाद यह मार्केट कैप के हिसाब से टीसीएस को पछाड़ दूसरी सबसे बड़ी कंपनी होगी।

ऐसे होगा शेयरों का आदान-प्रदान
प्रस्तावित सौदे के तहत एचडीएफसी लिमिटेड के प्रत्येक 25 इक्विटी शेयरों के लिए एचडीएफसी बैंक के 42 इक्विटी शेयर मिलेंगे। एचडीएफसी बैंक ने सोमवार को शेयर बाजार को बताया कि विलय की योजना भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) और भारतीय प्रतिभूति तथा विनिमय बोर्ड (सेबी) सहित विभिन्न नियामक मंजूरियों के अधीन है। फिलहाल एचडीएफसी की कुल एसेट 6.23 लाख करोड़ रुपये है, जबकि एचडीएफसी विलय सौदे से बाजार में तेजी एचडीएफसी बैंक की एसेट्स 19.38 लाख करोड़ रुपये की है।

शेयरों में आया जोरदार उछाल
एचडीएफसी लिमिटेड की सहायक कंपनियां और सहयोगी एचडीएफसी बैंक में स्थानांतरित एचडीएफसी विलय सौदे से बाजार में तेजी हो जाएंगे। एचडीएफसी के वाइस चेयरमैन और मुख्य कार्यकारी अधिकारी केकी मिस्त्री ने कहा है कि इस विलय से ग्राहक को बड़ा लाभ होगा। वहीं दूसरी ओर विलय की खबर के साथ एचडीएफसी और एचडीएफसी बैंक के शेयरों में 10-10 फीसदी का जोरदार उछाल आया है।

HDFC Bank-HDFC मर्जर प्लान, स्टॉक एक्सचेंज BSE और NSE से मिली मंजूरी, अब आगे क्या?

HDFC Bank ने कहा है कि पैरेंट कंपनी के साथ मर्जर के प्रस्ताव पर स्टॉक एक्सचेंज बांबे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) से मंजूरी मिल गई है.

HDFC Bank-HDFC मर्जर प्लान, स्टॉक एक्सचेंज BSE और NSE से मिली मंजूरी, अब आगे क्या?

HDFC Bank का पैरेंट कंपनी HDFC के साथ विलय का रास्ता साफ होता दिख रहा है. (File)

HDFC Bank & HDFC Merger Plan: निजी क्षेत्र के दिग्गज बैंक HDFC Bank का पैरेंट कंपनी HDFC के साथ विलय का रास्ता साफ होता दिख रहा है. HDFC Bank ने कहा है कि पैरेंट कंपनी के साथ मर्जर के प्रस्ताव पर स्टॉक एक्सचेंज बांबे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) से मंजूरी मिल गई है. BSE से बैंक को नो एडवर्स आब्जर्वेशन और NSE से नो आब्जेक्शन मिला है. बैंक ने बीएसई फाइलिंग में इस बात की जानकारी दी है. बता दें कि दोनों कंपनियों के मर्जर का प्रसताव इसी साल अप्रैल में सामने आया था.

HDFC Bank ने कहा कि स्टॉक एक्सचेंज से प्रस्ताव को मंजूरी मिल गई है. हालांकि HDFC Bank और HDFC के मर्जर का प्रस्ताव अन्य बातों के साथ-साथ भारतीय रिजर्व बैंक, भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग, राष्ट्रीय कंपनी कानून न्यायाधिकरण और योजना में शामिल कंपनियों के संबंधित शेयरधारकों और लेनदारों से अनुमोदन सहित विभिन्न वैधानिक और रेगुलेटरी अप्रूवल के अधीन है.

क्या है मर्जर का प्लान

HDFC के साथ विलय के बाद HDFC Bank दुनिया के सबसे बड़े बैंकों में शुमार हो जाएगा. यह सौदा करीब 6 हजार करोड़ डॉलर (4.53 लाख करोड़ रुपये) का है जो इस साल 2022 में अब तक का दूसरा सबसे बड़ा कारोबारी सौदा है. इस सौदे के पूरा होने पर विलय के बाद बैंक का मार्केट कैप 20 हजार करोड़ डॉलर (15.12 लाख करोड़ रुपये) के और करीब पहुंच सकता है. HDFC के अनुसार इस डील का उद्देश्य HDFC Bank के हाउसिंग लोन पोर्टफोलियो को बेहतर बनाना और इसका मौजूदा कस्टमर बेस बढ़ाना है. वहीं हाउसिंग फाइनेंस बिजनेस में भी तेजी आएगी. HDFC और HDFC Bank का यह मर्जर फिस्कल ईयर 2024 की दूसरी या तीसरी तिमाही तक पूरा होने की उम्मीद है.

Top Stocks for Portfolio: निवेश के लिए 13 लार्जकैप और 9 मिडकैप शेयरों की लिस्‍ट, पोर्टफोलियो को बना देंगे दमदार

Tata Motors: भारी घाटे के बाद टाटा मोटर्स में बिकवाली, झुनझुनवाला पोर्टफोलियो का ये शेयर खरीदें या बेच दें

Nykaa: क्‍या फाल्‍गुनी नायर का चल गया बोनस शेयर वाला दांव? लॉक इन खत्‍म लेकिन नहीं दिख रही भारी बिकवाली

SBFC Finance: NBFC कंपनी लाएगी आईपीओ, 1600 करोड़ रुपये जुटाने की योजना, कंपनी का क्‍या है पूरा प्‍लान

शेयरधारकों को क्या मिलेगा

इस मर्जर में कंपनी के शेयरहोल्डर्स और क्रेडिटर्स भी शामिल होंगे. डील के तहत HDFC Bank 100 फीसदी सार्वजनिक शेयरधारकों के स्वामित्व में होगा. जबकि HDFC लिमिटेड के मौजूदा शेयरधारकों के पास HDFC Bank में 41 फीसदी हिस्सेदारी होगी. HDFC शेयरधारकों को प्रत्येक 25 इक्विटी शेयरों के बदले उन्हें संयुक्त कंपनी में शेयर एक्सचेंज रेश्यो के अनुसार 42 इक्विटी शेयर मिलेंगे.

एचडीएफसी का विलय तय समय से पहले संभव

एचडीएफसी बैंक और एचडीएफसी लिमिटेड के बीच विलय पहले एचडीएफसी विलय सौदे से बाजार में तेजी बताई गई समयसीमा से कुछ महीने या एक तिमाही पहले पूरा हो सकता है। एचडीएफसी बैंक के मुख्य वित्तीय अधिकारी श्रीनिवासन वैद्यनाथन ने यह संभावना जताई है। उन्होंने कहा कि एक तिमाही या कुछ महीने पहले विलय पूरा हो सकता है। हमने पहले सितंबर का संकेत दिया था, इसे एक तरह से दूसरी तिमाही से तीसरी तिमाही की समयसीमा कह सकते हैं। जिस तरह से चल रहा है,

यह पहली तिमाही से दूसरी तिमाही में हो सकता है। राष्ट्रीय कंपनी विधि पंचाट ने एचडीएफसी बैंक के साथ एचडीएफसी के प्रस्तावित विलय पर 25 नवंबर को शेयरधारकों की बैठक बुलाने की अनुमति स्वीकृति दी है।

एचडीएफसी बैंक और एचडीएफसी लिमिटेड के बीच विलय पहले बताई गई समयसीमा से कुछ महीने या एक तिमाही पहले पूरा हो सकता है। एचडीएफसी बैंक के मुख्य वित्तीय अधिकारी श्रीनिवासन वैद्यनाथन ने यह संभावना जताई है।

उन्होंने कंपनी परिणाम के बाद विश्लेषकों को बताया ‘एक तिमाही या कुछ महीने पहले विलय पूरा हो सकता है। हमने पहले सितंबर का संकेत दिया था, इसे एक तरह से दूसरी तिमाही से तीसरी तिमाही (वित्त वर्ष 24) की समयसीमा कह सकते हैं। जिस तरह से चल रहा है, यह पहली तिमाही से दूसरी तिमाही में हो सकता है। हो सकता है कि यह कुछ महीने पहले हो जाए।’

देश के सबसे बड़े निजी ऋणदाता एचडीएफसी बैंक ने शनिवार को जुलाई-सितंबर की अपनी कमाई का ब्योरा दिया था। शुक्रवार को राष्ट्रीय कंपनी कानून अधिकरण (एनसीएलटी) ने एचडीएफसी बैंक के साथ एचडीएफसी के प्रस्तावित विलय के लिए मंजूरी हासिल करने के लिए 25 नवंबर को शेयरधारकों की बैठक आयोजित करने के लिए अपनी स्वीकृति दे दी।

इस साल की शुरुआत में 4 अप्रैल को एचडीएफसी बैंक ने कहा था कि वह लगभग 40 अरब डॉलर के सौदे में एचडीएफसी का अधिग्रहण करेगा। शुरुआत में उम्मीद की जा रही थी कि यह विलय अगले वित्त वर्ष की दूसरी या तीसरी तिमाही तक पूरा हो जाएगा।

एचडीएफसी बैंक ने आरबीआई से अनुरोध किया था कि वह नकद आरक्षित अनुपात और वैधानिक तरलता अनुपात के साथ-साथ प्राथमिकता वाले क्षेत्र को उधार देने के मानदंडों का पालन करने जैसी नियामकीय आवश्यकताओं के लिए चरणबद्ध दृष्टिकोण अपनाने की अनुमति प्रदान करे।

आरबीआई के मानदंडों के अनुसार बैंकों के समायोजित शुद्ध ऋण का 40 प्रतिशत भाग प्राथमिकता वाले क्षेत्र को दिया जाना चाहिए।

HDFC Bank-HDFC Update: विलय के ऐलान के बाद से एचडीएफसी - एचडीएफसी बैंक के निवेशकों को अब तक 2.70 एचडीएफसी विलय सौदे से बाजार में तेजी लाख करोड़ रुपये का नुकसान

एचडीएफसी समूह की दोनों वित्तीय संस्थानों के शेयर में ऐसी तेजी गिरावट आई कि निवेशकों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है. दोनों के मार्केट कैपिटलाईजेशन में 2.70 लाख करोड़ रुपये की कमी आ चुकी है.

By: ABP Live | Updated at : 19 Apr 2022 01:04 PM (IST)

HDFC Bank-HDFC Share Update: 4 अप्रैल 2022 को जैसे ही ये खबर आई कि एचडीएफसी और एचडीएफसी बैंक का आपस में विलय होगा. दोनों वित्तीय संस्थानों में निवेशित निवेशकों की बाछें खिल गई. शेयर बाजार इस खबर को सुनते ही झूम उठा. जिसके चलते एचडीएफसी और एचडीएफसी बैंक के शेयर में ऐतिहासिक बढ़ोतरी देखने को मिली. लेकिन इस खबर के आने के बाद बीते दो हफ्ते में एचडीएफसी समूह की दोनों वित्तीय संस्थानों के शेयर में ऐसी तेजी गिरावट आई कि निवेशकों को अब भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है. दोनों ही कंपनियों के मार्केट कैपिटलाईजेशन में 4 अप्रैल के बाद से करीब 2.70 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा की कमी आ चुकी है.

4 अप्रैल को जिन दिन एचडीएफसी बैंक में एडीएफसी के विलय की खबर आई, उस दिन शेयर में जबरदस्त उछाल के चलते एचडीएफसी बैंक का मार्केट कैपिटलाईजेशन 9.18 लाख करोड़ रुपये पर जा पहुंचा. तो एचडीएफसी का मार्कैट कैपिटलाईजेशन 5 लाख करोड़ रुपये तक जा पहुंचा. दोनों ही कंपनियों को जोड़ दें इनका वैल्यू बढ़कर 14.18 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा हो गया. लेकिन इस खबर के सामने आने के बाद से निवेशक लगातार दोनों वित्तीय संस्थानों के शेयरों में बिकवाली कर रहे हैं. जिसके बाद दोनों कंपनियों का मार्कैट कैपिटलाईजेशन घटकर 11.45 लाख करोड़ रुपये पर आ गया है. यानि दोनों कंपनियों का मार्केट वैल्यू में 2.70 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा की सेंध लगी है.

इस ऐतिहासिक विलय के ऐलान ने शेयर बाजार के समीकरण बदल दिए थे. दोनों एचडीएफसी दिग्गजों को मिला दें तो मार्केट कैपिटाईजेशन के लिहाज टीसीएस को पीछे छोड़ शेयर बाजार की दूसरी सबसे बड़ी कंपनियों में शुमार हो गई थी. एचडीएफसी बैंक और एचडीएफसी के विलय के ऐलान के बाद दोनों के शेयरों में आए जबरदस्त उछाल के बाद टाटा कंसलटेंसी सर्विसेज( TCS) को पछाड़ते हुए मार्केट कैपिटाईजेशन के लिहाज से दूसरी बड़ी कंपनी बन गई थी. लेकिन टीसीएस फिर दूसरी बड़ी कंपनी बन गई है. उसका मार्कैट कैप फिलहाल 12.91 लाख करोड़ रुपये है. मार्केट कैप के लिहाज से रिलायंस इंडस्ट्रीज 17.86 लाख करोड़ रुपये के साथ देश की नंबर वन कंपनी है.

एचडीएफसी बैंक ने 4 अप्रैल को बताया था कि विलय की योजना भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) और भारतीय प्रतिभूति तथा विनिमय बोर्ड (सेबी) सहित विभिन्न नियामक मंजूरियों के अधीन है. प्रस्तावित सौदे के तहत एचडीएफसी लिमिटेड के प्रत्येक 25 इक्विटी शेयरों के लिए एचडीएफसी बैंक के 42 इक्विटी शेयर मिलेंगे. प्रस्तावित लेनदेन एचडीएफसी बैंक को अपने होमलोन पोर्टफोलियो का निर्माण करने और अपने मौजूदा ग्राहक आधार को बढ़ाने में मदद मिलेगी.

News Reels

ये भी पढ़ें

Published at : 19 Apr 2022 01:04 PM (IST) Tags: HDFC hdfc bank Market capitalization HDFC-HDFC Bank Merger HDFC-HDFC Bank Investors Wealth Eroded HDFC Bank Share HDFC Share Price हिंदी समाचार, ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें abp News पर। सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट एबीपी न्यूज़ पर पढ़ें बॉलीवुड, खेल जगत, कोरोना Vaccine से जुड़ी ख़बरें। For more related stories, follow: Business News in Hindi

रेटिंग: 4.44
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 372